आत्मनिर्भर भारत- बनारसी साड़ियां ही नहीं राखियां भी बिखेरेंगी अपना जलवा

साड़ियों की तरह बनारस की राखियां भी अपना जलवा बिखेरने को बेताब हैं। पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में उनकी प्रेरणा से दर्जनों महिलाओं ने आत्मनिर्भर बनने की दिशा में कदम बढ़ाते हुए हजारों राखियों का निर्माण शुरू कर दिया है। रुद्राक्ष, मिट्टी, लकड़ी, कांच, मोती और गुलाब की पंखुड़ियों से करीब 50 हजार राखी तैयार की जा रही है। बनारस के व्यापार मंडलों ने इस बार इन्हीं राखियों को बेचने का फैसला भी ले लिया है। जिला प्रशासन और डूडा राखियों को बनारस के बाहर भी सप्लाई करने की कोशिशों में जुटा है। अगर सबकुछ ठीक रहा तो वह दिन दूर नहीं जब बनारसी साड़ियों  की तरह बनारसी राखियां भी चमकेंगी। महिलाएं राखियों के साथ पीपीई किट भी बना रही हैं।