आत्मनिर्भर खुद गोबर से राखी बना रोज़गार पा रहे युवा

बालाघाट जनपद के दीनी गांव में रहने वाले इंजीनियरिंग के छात्र भुवन उपवंशी ने कोरोना काल के कारण बढ़ रही बेरोजगारी और चीन व भारत की तनातनी के बीच के खुद ही रोजगार तलाश किया है, और साथ ही गांव के युवाओं को भी आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित किया है। भुवन उपवंशी ने अपनी गऊशाला में गाय के गोबर से स्वेदशी राखियां तैयार की है। जिन्हें बाजार में भी उतार दिया है । इसके साथ ही भुवन उपवंशी ने गांव के बेरोजगार युवाओं को अपने साथ जोड़कर उन्हें रोजगार दिया है। भुवन के मुताबिक गाय के गोबर से निर्मित से राखी चाइनीज राखी के मुताबिक काफी बेहतर है।और पर्यावरण व सेहत के लिए काफी किफायती है।